12th Result Chhattisgarh Board of Secondary Education Minister Prem Sai released the result | घर से किताबें देखकर दी परीक्षा फिर # 5 हजार से ज्यादा बच्चे हुए फेल, 2 हजार फिर से देंगे परीक्षा; 97% रहा रिजल्ट

0

[ad_1]

रायपुरएक घंटा पहले

प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से 12वीं के नतीजे जारी कर दिए गए। स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेम साय टेकाम ने रविवार को नतीजे घोषित किए। इस बार छात्रों ने परीक्षा घर बैठकर दी थी। रिजल्ट के आंकड़ों के मुताबिक 12वीं के 5 हजार 255 बच्चे फेल हो गए #। परीक्षा में 95% बच्चों ने फर्स्ट डिवीजन, 1% ने सेकेंड # 0.3 ने थर्ड डिवीजन से परीक्षा पास की। पास होने वालों में 96% लड़के # 98% लड़कियां #। चूंकि कोविड के खतरे को देखकर घर पर ही परीक्षा देने की सुविधा दी गई थी इसलिए मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई।

छत्तीसगढ़ में एग्जाम फ्रॉम होम:घर में गाइड लेकर आंसर लिख रहे 12वीं के स्टूडेंट, शिक्षा मंत्री बोले- बच्चे कम से कम लिख तो रहे #

रिजल्ट के आंकड़ों पर एक नजर

  • इस बार परीक्षा के लिए 2 लाख 89 हजार स्टूडेंट पंजीकृत थे
  • 97% बच्चे पास हो गए।
  • 2 हजार 402 छात्रों का परिणाम अपात्र होने की वजह से निरस्त हुआ
  • 341 स्टूडेंट्स का रिजल्ट रोका गया है जो कि बाद में जारी होगा।
  • पास होने वाले स्टूडटेंट्स की संख्या 2 लाख 76 हजार 817 है।
  • 2 हजार 35 स्टूडेंट्स को पूरक (सप्लीमेंट्री) की पात्रता दी गई है।
माध्यमिक शिक्षा मंडल में अधिकारी।

माध्यमिक शिक्षा मंडल में अधिकारी।

ऐसे देखें अपना रिजल्ट
स्टूडेंट्स https://cgbse.nic.in/ या https://results.cg.nic.in/ पर क्लिक करके अपने परीक्षा परिणाम देख पाएंगे। इस बार स्टूडेंट्स ने घर बैठकर परीक्षा दी थी। स्कूल को ही सेंटर बनाया गया था। इन सेंटर्स से स्टूडेंट 1 जून से 5 जून तक प्रश्न पत्र # आंसर शीट हासिल किए। स# को आंसर शीट जमा करने के लिए 5 दिनों का वक्त मिला था।

10वीं में तो कोई नहीं हुआ फेल

इस बार जारी किए गए 10वीं के रिजल्ट स्टूडेंट्स के जमा किए असाइनमेंट के आधार पर जारी हुए। इसमें कोई स्टूडेंट फेल नहीं हुआ। 97% बच्चे फर्स्ट डिवीजन में पास हुए। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह टेकाम ने बताया कि इस परीक्षा में कुल 4 लाख 61 हजार 93 बच्चों का इंटरनल असेसमेंट किया गया था। जिन बच्चों ने असाइनमेंट जमा नहीं किया था, उनको # मिनिमम मार्क्स देकर पास कर दिया गया है। इनमें से 4 लाख 46 हजार 393 स्टूडेंट फर्स्ट डिवीजन में पास हुए #। यह कुल स्टूडेंट्स का 97% है। 9 हजार 24 छात्रों की सेकंड डिवीजन आई। वहीं, 5,0673 थर्ड डिवीजन में पास हुए।

अब स्कूल खोलने की तैयारी

राज्य सरकार 2 अगस्त से पूरे प्रदेश में स्कूल # कॉलेज खोलने जा रही है। राज्य सरकार ने ये फैसला आठ राज्यों की स्टडी के बाद लिया गया है। इतना ही नहीं, स्कूल खोलने से पहले प्रदेश के शिक्षकों का वैक्सीनेशन सर्वे # कराया गया है। जिसमें यह बात सामने आई कि 1 लाख 15 हजार शिक्षक यानी 87 फीसदी टीका लगवा चुके #, सिर्फ 13 फीसदी बचे #। पिछले साल कोरोना की पहली लहर के बाद प्रदेश के स्कूल # कालेज 1 अप्रैल 2020 से बंद कर दिए गए थे। छत्तीसगढ़ में 2 अगस्त से बच्चों की 50 फीसदी उपस्थिति के साथ स्कूल-कॉलेज खुलेंगे। प्राथमिक # मिडिल स्कूल खोलने का फैसला कोरोना केसेस को देखते हुए शाला विकास समितियां करेंगी।

# # # ##

[ad_2]

Source link