CBSE Board has issued special assessment scheme for 10th-12th examinations, academic session 2021-22 will be divided toward two parts | CBSE ने इस साल के एकेडमिक सेशन को दो हिस्सों में बांटा; नवंबर-दिसंबर में पहले, मार्च-अप्रैल में दूसरे टर्म के एग्जाम होंगे

CBSE Board Has Issued Special Assessment Scheme For 10th 12th Examinations, Academic Session 2021 22 Will Be Divided Into Two Parts

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने साल 2021-22 के एकेडमिक सेशन के लिए 10वीं और 12वीं के सिलेबस में बड़े बदलाव किए हैं। इसके तहत साल 2021 के बैच के लिए बोर्ड परीक्षाएं 2 बार में कराई जाएंगी।

CBSE ने सोमवार को जारी सर्कुलर में बताया कि 2021-22 के एकेडमिक सेशन को 2 टर्म में बांटा गया है। हर टर्म में 50% सिलेबस को कवर किया जाएगा। पहले टर्म की परीक्षा नवंबर-दिसंबर और दूसरे टर्म की मार्च-अप्रैल में होगी। ये टर्म एग्जाम 90 मिनट के होंगे। इसका नोटिफिकेशन इसी महीने जारी कर दिया जाएगा।

दोनों टर्म के आधार पर मार्कशीट तैयार होगी
बोर्ड हरेक टर्म के आखिर में बंटे हुए सिलेबस के आधार पर परीक्षाएं लेगा। बोर्ड प्रश्न पत्र तैयार करके इन्हें स्कूलों को भेज देगा। आंसरशीट के मूल्यांकन की प्रोसेस भी बोर्ड ही तय करेगा। ये परीक्षाएं बाहर से भेजे गए सेंटर सुपरिटेंडेंट और ऑब्जर्वर्स की निगरानी में की जाएंगी। स्टूडेंट पहले और दूसरे टर्म में जो नंबर हासिल करेंगे, उनके आधार पर फाइनल मार्कशीट तैयार की जाएगी।

इसके साथ ही 9वीं-10वीं के लिए इंटरनल असेसमेंट (पूरे साल टर्म I और टर्म II के बावजूद) में 3 पीरियोडिक टेस्ट, स्टूडेंट एनरिचमेंट, पोर्टफोलियो और प्रेक्टिकल वर्क, बोलने और सुनने की एक्टिविटीज शामिल होंगी। 11वीं -12वीं के लिए इंटरनल असेसमेंट (साल भर में टर्म I और टर्म II की अवधि के अलावा) में टॉपिक एंड या यूनिट टेस्ट, रिसर्च एक्टिविटी, प्रेक्टिकल वर्क और प्रोजेक्ट वर्क शामिल किए जाएंगे।

कोरोना के कारण फैसला
CBSE ने स्कूलों को स्टूडेंट की प्रोफाइल तैयार करने को भी कहा है। स्कूल साल भर में किए गए सभी असेसमेंट के लिए स्टूडेंट्स की प्रोफाइल तैयार करेंगे और उसका डिजिटल फॉर्मेट बनाएंगे। बोर्ड ने कहा है कि जब तक स्कूलों में व्यक्तिगत रूप से पढ़ाने की अनुमति नहीं देते हैं, तब तक स्कूल डिस्टेंस मोड में पढ़ाना जारी रखेंगे।

CBSE ने कोरोना महामारी को देखते हुए यह फैसला लिया है। 2022 की 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की योजना के बारे में CBSE ने कहा कि इंटरनल असेसमेंट और प्रोजक्ट वर्क को और ज्यादा भरोसेमंद और वैलिड बनाने की कोशिश जारी रहेगी। इससे पहले बोर्ड ने इस साल होने वाली 10वीं-12वीं की परीक्षा भी कोरोना के कारण रद्द कर दी थी।

Source link