CBSE Board Result 2021| Students dissatisfied with 12th number will be able to apply for marks verification from today, problems of students will be solved in four groups | 12वीं के नंबर से असंतुष्ट स्टूडेंट्स मार्क्स वेरिफिकेशन के लिए आज से कर सकेंगे आवेदन, चार कैटेगरी में होगा स्टूडेंट्स की समस्याओं का समाधान

0


  • #
  • Career
  • CBSE Board Result 2021| Students Dissatisfied With 12th Number Will Be Able To Apply For Marks Verification From Today, Problems Of Students Will Be Solved In Four Categories

23 मिनट पहले

  • #

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) ने 12वीं के मार्क्स से असंतुष्ट स्टूडेंट्स के लिए जरूरी नोटिफिकेशन जारी कर जानकारी दी गई है। ऐसे स्टूडेंट्स जो अपने मार्क्स को लेकर नाखुश है, वे मार्क्स वेरिफिकेशन के लिए आज से रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। अपनी समस्याओं को सुलझाने के लिए स्टूडेंट्स चार चरणों की इस प्रोसेस में हिस्सा ले सकते #। इसके लिए आवेदन प्रक्रिया 12 अगस्त तक जारी रहेगी। वहीं, बोर्ड को 14 अगस्त तक स# समस्याओं का निवारण करना होगा।

बोर्ड ने नोटिफिकेशन जारी कर दी जानकारी

इस बारे में जारी एक नोटिफिकेशन में बोर्ड ने बताया कि ऐसे स्टूडेंट जो 12वीं में मिले अपने मार्क्स ने संतुष्ट नहीं है, वे मार्क्स वेरिफिकेशन के लिए अपने स्कूल के प्रिंसिपल को आवेदन कर सकते #। इसके अलावा अगर रिजल्ट कमेटी की ओर से मार्क्स टैबुलेशन में कोई गलती हुई है तो वह इसे सुधार सकेंगे। साथ ही नई नीति को लेकर आपत्ति रखने वाले स्टूडेंट # आवेदन कर सकते #।

ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

अपने मार्क्स से असंतुष्ट स्टूडेंट्स को प्रिंसिपल को लेटर के जरिए अपने कारण से स्पष्ट करने होंगे। इसके बाद स्कूल इस रिकॉर्ड को ऑनलाइन # ऑफलाइन दोनों तरीके से अपने पास रखेंगे। रिजल्ट तैयार करने वाली कमेटी स्टूडेंट्स के कारणों के आधार पर इसकी जांच करेंगी। जांच के अगर रिजल्ट सही पाया जाता है, तो स्टूडेंट को कमेटी की ओर से जवाब भेज दिया जाएगा। यह पूरी प्रक्रिया टाइप-1 कैटेगरी में रखी जाएगी।

रिजल्ट में गलती होने पर रीजनल ऑफिसर करेंगे विवाद का निपटारा

अगर स्टूडेंट्स के मार्क्स में गलती पाई जाती है तो कमेट स# डॉक्यूमेंट्स के साथ गलती होने # इसके प्रभाव को लेकर स्कूलों को जानकारी देगी। साथ ही स्कूल के प्रिंसिपल # रिजल्ट कमेटी के अध्यक्ष रीजनल ऑफिस में # इस बारे में जानकारी देंगे। इसके बाद रीजनल ऑफिसर इस मामले में फैसला लेकर जरूरी सुधार करेंगे। इसे टाइप- 2 कैटेगरी में रखा जाएगा।

मार्क्स टैबुलेशन में गलती होने पर यह होगी प्रक्रिया

वहीं, अगर किसी स्टूडेंट्स की आपत्ति के बिना ही रिजल्ट कमेटी को मार्क्स में गलती टैबुलेशन लगती है , तो इसके लिए टाइप तीन पर क्लिक कर आवेदन करना होगा। इसके तहत मार्क्स की गलत गणना # रिजल्ट अपलोड करने में हुई गलती की # जांच की जाएगी। इसके लिए सीबीएसई के सहायक सचिव, केंद्रीय विद्यालयों के प्रिंसिपल, निजी स्कूलों के प्रिंसिपल # शिक्षा निदेशक स्तर तक के अधिकारी जांच कमेटी में शामिल होंगे। कमेटी अपनी जांच पूरी कर रीजनल ऑफिस को रिपोर्ट सौंपेगी।

नई नीति से आपत्ति के लिए टाइप- 4 कैटेगरी में करें आवेदन

इसके अलावा अगर किसी स्टूडेंट को नई नीति से किसी तरह की कोई आपत्ति है, तो इसके लिए टाइप- 4 कैटेगरी पर आवेदन करना होगा। हालांकि, आपत्ति को लेकर पूरा विवरण देना अनिवार्य है। इसके बाद इस पर संयुक्त सचिव, उप सचिव # इससे ऊपर के अधिकारी # रिटायर्ड प्रिंसिपल की अध्यक्षता वाले बोर्ड में विचार किया जाएगा। कमेटी अपने सुझाव परीक्षा नियंत्रक को देगी # परीक्षा नियंत्रक मामले में फैसला लेंगे।

इन बातों का रखें ध्यान-

  • स्टूडेंट्स अंकों के निर्धारण व घटाने # बढ़ाने के लिए अपनाए गए बोर्ड के तरीकों को चुनौती नहीं दे सकेंगे।
  • स्कूल # स्टूडेंट्स को आवेदन के विषय में कक्षा 10वीं या 12वीं को स्पष्ट करना होगा।
  • 12वीं के विवादों का प्रमुख तौर पर निपटारा किया जाएगा ।
  • 12वीं के विवादों का निपटारा होने के बाद 10वीं के नतीजों का विवाद सुलझाया जाएगा।
  • कॉलेजों में आवेदन करने वाले स्टूडेंट्स को विवाद के परिणाम का इंतजार किए बिना कॉलेज या यूनिवर्सिटी में समय से आवेदन करने की सलाह दी गई है।
  • विवाद के निपटारे के लिए स्कूलों को बोर्ड की ओर से सिर्प पांच हजार रुपए का ही भुगतान किया जाएगा।

ऑफिशियल नोटिफिकेशन के लिए यहां क्लिक करें

# # # ##



Source link